Tag Archives: 60 लाख की लागत से राम मंदिर का निर्माण

प्राचीन राम मंदिर जीर्णोद्धार, 33 वर्ष बाद हो रहा मंदिर नव निर्माण दुनावा में 60 लाख की लागत से होगा


मुलताई- दुनावा में स्थित प्राचीन राम मंदिर का 60 लाख रुपए की लागत से जीर्णोद्धार किया जाना है। यह  ग्राम के मध्य स्थित राम मंदिर का  पुनर्निर्माण ग्रामीणों के सहयोग से होगा।

राम मंदिर नव निर्माण समिति से जुड़े लोगों ने बताया कि राम मंदिर निर्माण को लेकर संपूर्ण ग्रामीणों में भारी उत्साह है और सभी के सहयोग से यह निर्माण किया जाना है ।अब शीघ्र ही प्राचीन प्रसिद्ध राम मंदिर के स्थान पर एक भव्य मंदिर आकार ले सकेगा। ग्रामीण बताते हैं कि

दुनावा का वर्षों पुराना राम मंदिर का निर्माण पूर्व में सन् 1987 में किया गया था, उस समय यह मंदिर  क्षेत्र के सबसे बड़े मंदिर के रूप में जाना जाता था। किंतु वर्तमान में इस मंदिर की छत और दीवार कमजोर हो चुकी है। इसीलिए मंदिर  पुनर्निर्माण करवाना आवश्यक हो चुका है ।

हर घर से मिल रहा है राम काज में सहयोग

राम काज में बड़ी संख्या में लोग  जुड़े हुए हैं इससे पूर्व भी समिति बनाकर ही मंदिर का निर्माण किया गया था। लगभग 33 वर्ष पहले   धनराज  कड़वे की अध्यक्षता में बनाए गए  इस राम मंदिर   में

स्वर्गीय टीकाराम पटेल,  स्वर्गीय, झुम्मुक लाल  विश्वकर्मा, स्वर्गीय ढीमर साहू, स्वर्गीय कुंदन लाल  शिवहरे, स्वर्गीय शंकरलाल  कड़वे, स्वर्गीय बिहारी लाल  विश्वकर्मा, स्वर्गीय शंकरलाल जी शिवहरे, स्वर्गीय नारायण पवार, स्वर्गीय प्रकाश सेठ,  स्वर्गीय लखन साहू, स्वर्गीय हेमराज सोमगड़े,स्वर्गीय रतन लाल  कड़वे ,स्वर्गीय घुड़िया सेठ ,स्वर्गीय गोंड साहू, स्वर्गीय ओझा महाजन, स्वर्गीय प्यारेलाल  पटवारी,  स्वर्गीय  ओझा लालजी गिराहरे, स्वर्गीय  लखन कड़वे, स्व. धनराज सोमगड़े, स्वर्गीय फकिरिया पवार, स्वर्गीय राम किशन  शिवहरे, स्वर्गीय कैली महाजन, एवं  हरि साहू, सीताराम सोमगड़े(नागपुर) सरजेराव ब्वाड़े,बाबूलाल पटेल, द्वारका कड़वे, कीरत शिवहरे,  श्याम नंदन मालवीय ,दिलीप साखरे, चिरौंजी साहू ,मंसाराम दियावार, रूपलाल शिवहरे,सुखराम पवार, राधेलाल गोहिए, देवा जी कौशिक, शांताराम विश्वकर्मा, मधु सेठ( बैतूल), केशोराव पवार,  आदि सदस्यों  के श्रम एवं धन के सहयोग से मंदिर का निर्माण किया गया था

वर्तमान में नई मंदिर  पुनर्निर्माण समिति का गठन किया गया है इसमें बाबूलाल पटेल, नारायण  सरोदे, विजय गावंडे,प्रकाश सूर्यवंशी, आशीष सोनी, अनुपम कड़वे, ललित रघुवंशी, नितिन शिवहरे ,रमेश सूर्यवंशी, महेश ब्वाड़े, अरुण शिवहरे ,नरेश फरकाड़े ,बबलू शिवहरे, अरविंद साहू ,बलवंत कड़वे ,विजय पवार, संतोष पवार, पलाश कड़वे, प्रताप कड़वे ,देवेंद्र विश्वकर्मा ,रंजीत टिटारे, केवल कौशिक, अमित ढोले जीतू खरखुसे, मुकेश कौशिक, धीरज साहू, नितिन सूर्यवंशी आदि  सदस्य प्रतिदिन सुबह शाम ग्रामीणों के घर जाकर मंदिर के पुनर्निर्माण के लिए दान एकत्र कर रहे हैं, मंदिर  समिति  द्वारा  जिस प्रकार अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए दान दिया जा रहा है उसी प्रकार दुनावा में भी  राम मंदिर पुनर्निर्माण के लिए ग्रामीणों और श्रद्धालुओं से अनुदान के लिए आग्रह किया  जाता है।

समिति से जुड़े लोग बताते हैं कि  ग्राम दुनावा  के मूल निवासी जो बाहर जाकर बस गए हैं वह भी मंदिर निर्माण के माध्यम से ग्राम की माटी से जुड़ रहे हैं

और हर संभव सहयोग प्रदान कर रहे हैं। पिछले राम मंदिर निर्माण समिति के जितने भी सदस्य अब हमारे बीच नहीं रहे ,उनके घर के सदस्य अभी भी स्वेच्छा से मंदिर पुनर्निर्माण के लिए अच्छी खासी राशि दान दे रहे हैं ।स्वर्गीय हेमराज  सोमगड़े के सुपुत्र रमेश सोमगड़े ने ₹181000 की राशि दान दी है एवं स्वर्गीय शंकरलाल  कड़वे की धर्मपत्नी  विमला बाई कड़वे ने 51 हजार रू़ की राशि दान दी है । दुनावा के कुछ लोग जो वर्तमान में दूसरे शहर जाकर रह रहे हैं वो भी दुनावा में मंदिर पुनर्निर्माण के लिए  दान दे रहे हैं।
दुनावा की राम मंदिर पुनर्निर्माण समिति के सभी सदस्य ग्रामीण और श्रद्धालुओं से मंदिर निर्माण के लिए दान देने  के लिए विनम्र निवेदन करते हैं।