Tag Archives: Bhopal

इन्दौर भीषण अग्निकांड में बैतूल के दो युवक जिंदा जले, पीएम और सीएम ने दुख जताया


बैतूल – शुक्रवार की रात इंदौर के विजय नगर क्षेत्र में स्वर्ण बाग कालोनी की एक बिल्डिंग में भीषण अग्निकांड की वजह से सात लोग जिंदा जल गए थे। मृतकों में छह पुरुष एवं एक महिला शामिल है मृतकों के नाम ईश्वर सिंह सिसोदिया, नीतू सिसोदिया, आशीष, गौरव पवार, देवेंद्र साल्वे और आकांक्षा है,  और घायलों में फिरोज, मुनिरा, विशाल प्रजापति, अरशत और सोनाली पवार शामिल है।

पुलिस कमीश्नर हरीनारायण चारी ने अग्निकांड का खुलासा करते हुए बताया कि एकतरफा प्यार में पागल सिरफिरे युवक द्वारा कल रात इंदौर में भीषण अग्निकांड को अंजाम दे दिया गया। इस अग्निकांड में 7 लोगों की दम घुटने और जिंदा जलने से मौत हो गई।

इस अग्निकांड में जिंदा जलने से बैतूल के 2 युवकों की भी दर्दनाक मौत हो गई। इनमें से एक युवक एक दिन पहले ही दिल्ली से लौटा था और उस बिल्डिंग में अपने बैतूल के ही दोस्त के साथ ठहरा था। घटना की जानकारी मिलते ही दोनों के परिजन इंदौर रवाना हो गए हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शंकर वार्ड में रहने वाला गौरव पवार इंदौर की बस डिपो में काम करता था। वहीं टेलीफोन कॉलोनी निवासी उसका दोस्त देवेंद्र साल्वे एक दिन पहले शुक्रवार को ही अपनी बहन को दिल्ली में बास्केटबॉल के मैच खिलाकर इंदौर आया था। यहाँ भी देवेंद्र की छोटी बहन का मैच होना था। बहन सहेलियों के साथ रुक गई और देवेंद्र मोहल्ले के ही गौरव के इंदौर स्थित फ्लैट में रुक गया।जानकारी के मुताबिक गौरव के पिता स्वास्थ्य विभाग और देवेंद्र के पिता भीमपुर ब्लॉक में शिक्षक हैं।

इन्दौर भीषण अग्निकांड में बैतूल के दो युवक जिंदा जले, पीएम और सीएम ने दुख जताया है। साथ ही बिल्डिंग में आग से 7 लोगों की मौत के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर हादसे में मृत लोगों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है।

जैसे ही युवकों के इस हादसे का शिकार होने की जानकारी परिजनों और मोहल्ले के लोगों को लगी, सबका बुरा हाल है। पारिवारिक सदस्यों के मुताबिक हादसे का शिकार हुए दोनो युवकों के शव बैतूल लाए जा रहे हैं। गंज मोक्षधाम में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

पुरानी पेंशन बहाली को लेकर मध्यप्रदेश राज्य कर्मचारी संघ ने सौपा ज्ञापन


बैतूल। मध्यप्रदेश राज्य कर्मचारी संघ बैतूल द्वारा प्रदेश के आव्हान पर दिनाँक 05 मई 2022 को जिले की समस्त तहसीलों में पुरानी पेंशन को बहाल करने को लेकर मध्यप्रदेश राज्य कर्मचारी संघ तहसील शाखा बैतूल के पदाधिकारी ने श्री मनोज राय जिला अध्यक्ष एवं श्री के. के. बारंगे, जिला सचिव के नेतृत्व में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्रीमती रीता डहेरिया को ज्ञापन सौंपा।

इस अवसर पर श्री अशोक श्रीवास, तहसील अध्यक्ष, श्री आलोक कुम्भारे सचिव श्री के.एन. शर्मा, श्री मनोज लोखण्डे एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

रामू के विवाह में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पहुँचे बैतूल


बैतूल मप्र । मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ बैतूल हरदा हरसूद के पूर्व लोकसभा प्रत्याशी रहे रामू टेकाम के विवाह समारोह में शामिल होने बैतूल पहुंचे। कमलनाथ के साथ बैतूल विधायक निलय डागा भी हेलीकॉप्टर से बैतूल पहुँचे थे। हेलीपेड से कमलनाथ सीधे विवाह स्थल पहुंचे जहां मंच पर जाकर उन्होंने वर वधु को आशीर्वाद दिया और उनके परिजनों से मिले और इसके बाद वापस हेलीपेड के लिए रवाना हो गए। पहले कमलनाथ का कार्यक्रम 40 मिनट का बताया गया था लेकिन बेकाबू हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं के चलते विवाह स्थल पर कमलनाथ महज 10 मिनट ही रुक सके और रवाना हो गए। हेलिपैड से लेकर विवाह स्थल तक कई जगह कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कमलनाथ का स्वागत किया।

पूर्व सीएम कमलनाथ के अलावा कई जिलों के कांग्रेस विधायक और सांसद भी इस विवाह समारोह में शामिल हुए। पुलिस पर बने हेलीपैड से विवाह स्थल तक कमलनाथ को विधायक निलय डागा ने स्वयं गाड़ी चलाकर लेकर गए इतना ही नही विवाह समारोह में शामिल होने के बाद वापस हेलीपेड तक ड्राइविंग कर निलय डागा ने कमलनाथ को छोड़ा। विधायक को ड्राइविंग सीट पर देख लोग हैरान थे की कमलनाथ का वाहन विधायक स्वयं चला रहे थे इस दौरान विधायक आकर्षण का केंद्र बने रहे।

बैतूल विवाह समारोह में पंहुचे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सिंह पर तंज कसते हुए कहा कि आज प्रदेश में हर वर्ग परेशान है। हमारा भटकता नौजवान, पीडित किसान सहित छोटा व्यापारी सभी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के झूठे अस्वासन और घोषणाओं से परेशान है ऐसी घोषणाओं से जनता का ध्यान खींच रहे है शिवराज सोचते है कि ऐसा करके जनता को फिर से मूर्ख बनाएंगे।

स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का बड़ा बयान – तय समय पर होगी परीक्षा।


स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का बड़ा बयान – तय समय पर होगी, परीक्षा 10वीं के पेपर 18 से और 12वीं के 17 फरवरी से ही होंगे।

भोपाल।। मध्यप्रदेश में 1 फरवरी से स्कूल खुलने के बाद स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बोर्ड परीक्षाएं तय समय पर होंगी। 10वीं के एग्जाम 18 फरवरी से 10 मार्च तक और 12वीं के 17 फरवरी से 12 मार्च तक होंगे। पेपर सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक रहेगा। छात्रों को सलाह है कि कम समय बचा है। अच्छी तैयारी और मन से परीक्षा दें। कोरोना को देखते हुए पहली बार पेपर फरवरी में शुरू हो रहे हैं। एमपी बोर्ड टाइम टेबल मंडल की वेबसाइट http://www.mpbse.nic.in पर जारी किया गया है।

सुबह 8.30 बजे उपस्थित होना जरूरी

परीक्षा के लिए परीक्षार्थी को सुबह 8.30 बजे उपस्थित होना जरूरी है। छात्रों को सुबह 8.45 बजे तक ही केंद्र में प्रवेश दिया जाएगा। उसके बाद आने वाले छात्रों को परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा।

हाई स्कूल (10वीं)

परीक्षा शुरू होगी : 18 फरवरी 2022

अंतिम पेपर : 10 मार्च 2022

समय : सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक

हायर सेकंडरी स्कूल (12वीं)

परीक्षा शुरू होगी : 17 फरवरी 2022

अंतिम पेपर : 12 मार्च 2022

समय : सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक

मध्यप्रदेश पंचायत चुनाव का ऐलान


मध्य प्रदेश की ग्राम पंचायतों में आदर्श आचार संहिता लागू

52 जिलो में जिला पंचायत सदस्य 859
जनपद पंचायत सदस्य 6035
सरपंच 23835
के 3 चरणों मे होंगे चुनाव।

दिनाँक – 6 जनवरी 2022
प्रथम चरण में – 9 जिले की 85 जनपद में चुनाव

दिनाँक- 28 जनवरी 2022
दूसरे चरण में – 7 जिले की 110 जनपद पंचायत।

दिनाँक- 16 फ़रबरी 2022
तीसरे चरण में -36 जिलो की 118 जनपद पंचायत में होंगे चुनाव

बची हुई 114 ग्राम पंचायत के चुनाव अगले साल मई में होंगे।

मतदान का समय- सुबह – 7 बजे से 3 बजे तक।

23 फ़रबरी को आयेंगे परिणाम

“अजब गांव की गजब दास्तां – रोंढा” पुस्तक का सांसद श्री डी डी उइके ने किया विमोचन


बैतूल। जिला मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम रोंढा में रविवार को रामकिशोर दयाराम पंवार लिखित पुस्तक “अजब गांव की गजब दास्तां” का विमोचन बैतूल-हरदा-हरसूद सांसद श्री डीडी उइके और रामकिशोर पवार की माँ श्रीमती कसिया बाई पवार की गरिमामयी उपस्थिति में सम्पन्न हुआ।

रामकिशोर ने अपने गांव के बारे किताब लिख कर देश – दुनियां को रोंढ़ा के बारे में वह जानकारी देने का काम किया है। जिसे आने वाली पीढ़ी को गांव के बारे में पता चल सकेगा, कि यह गांव कितना समृद्ध एवं विकासशील था।

बैतूल-हरदा-हरसूद संसदीय क्षेत्र से सासंद श्री डीडी उइके ने ग्राम रोंढ़ा में पहली बार शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परिसर रोंढ़ा में आयोजित पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में मां सरस्वती एवं पुण्य सलिला मां सूर्यपुत्री ताप्ती की पूजा अर्चना और दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

कार्यक्रम में आमंत्रित सभी अतिथियों का पुष्पमाला से स्वागत सत्कार होने के बाद पत्रकार / लेखक रामकिशोर दयाराम पंवार रोंढ़ावाला की पुस्तक “अजब गांव की गजब दास्तां” का विमोचन करते हुए मध्यप्रदेश – महाराष्ट्र की सीमा पर बसे आदिवासी बाहुल्य बैतूल जिले से चुने गए भाजपा सासंद श्री दुर्गादास उइके ने अपने धारा प्रवाह भाषण में कहा कि जन्म देने वाली माँ की महिमा का बखान करते हुए कहा कि मै उन सौभाग्यशाली लोगों में से एक हूँ, जिसने अपने और लेखक रामकिशोर दयाराम पंवार के माता – पिता के संग चार धामों की यात्रा की है।

लेखक और उसके परिवार के साथ-साथ अपने पुराने सबंधो का जिक्र करते हुए सांसद ने कहा कि आज के कार्यक्रम में उपस्थित लेखक की माता श्रीमति कसिया बाई पंवार को सम्बोधित करते हुए कहा कि माँ की मौजूदगी किसी भी कार्यक्रम में चार चाँद लगा देती है। माता – पिता की सेवा का सौभाग्य हर किसी को नहीं मिलता है। जननी और जन्मभूमि दोनो माता है। आज रामकिशोर पंवार ने अपनी जन्मभूमि की महिमा को किताब का रूप देकर उसका कर्ज अदा कर दिया है। सासंद श्री उइके ने कहा कि माँ की महीमा अपरमपार है।

पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में ग्राम रोंढ़ा में जन्मे दो दर्जन से अधिक शासकीय सेवानिवृत एवं शासकीय सेवारत लोगो तथा सेना के सेवानिवृत सैनिको का शाल श्री फल से सम्मान किया। गांव से निकल कर गांव की पहचान बनाने वाले, जिनका सम्मान किया गया वे अपने सम्मान को पाकर भाव विभोर हो गए।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से महाकौशल की संस्कारधनी नगरी जबलपुर से पधारे अंतराष्ट्रीय कवि माथुरकर जबलपुरी, पवार समाज संगठन के जिलाध्यक्ष बाबूलाल कालभोर, रोंढ़ा के श्री गुलाबराव कालभोर, श्री दीलिप ओमकार, श्री अशोक बारंगे, श्री चन्द्रशेखर मुल्लू देवासे, श्री मिसरू देवासे, बैतूल के नामचीन अधिवक्ता श्री प्रशांत गर्ग, ग्राम रोंढ़ा में पढ़े पूूर्व जिला भाजपा महामंत्री एवं शासकीय अधिवक्ता बलराम कुंभारे, अधिवक्ता संजय शुक्ला, पत्रकार सुनील पलेरिया,

मुलताई से जगदीश चन्द्र पवार, श्री कमल पवार, भाजपा मीडिया प्रभारी अखलेश परिहार, युवा कवि अजय पवार, इंजीनियर अनिल डिगरसे, सहायक इंजीनियर लक्ष्मण पवार, सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी श्री दिनेश डिगरसे, लाडो फाऊडेंशन के अनिल यादव पहलवान, रेडक्रास सोसायटी के अध्यक्ष डाँ अरूण जयसिंहपुरे, श्री वायुसेना में कार्यरत रहे कैप्टन अशोक पंवार, मुन्नालाल डहारे, जनकलाल कड़वे, श्यामराव देशमुख जामठी,

ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष तरूण कालभोर,जनपद सदस्य ललीत बांरगे, तरूण पाठा, सुभाष कालभोर, विजेन्द्र पाठा, रमेश डिगरसे, जगदीश खपरिये, पत्रकार नीतिन अग्रवाल, राज मालवीय, मनोज अतुलकर, गौदन कालभोर, चन्द्रेश ओमंकार, युगेश देशमुख, कल्लू कोड़ले, प्रवीण चौधरी, संतोष कालभोर, राजेश तावरे, दयाराम चौधरी, मोहन डोंगरदिये, तोषण खपरिये, अनुकुल डिगरसे, रोशन देशमुख, सचिन हजारे, दुर्गाप्रसाद कसरादे आदि उपस्थित थे।

कार्यक्रम का संचालन श्री बी. आर. पंवार शिक्षक एवं श्री संजय पठाडे शेष और आभार प्रदर्शन श्री प्रदीप डिगरसे रोंढा द्वारा किया गया।

धूमधाम से निकलेगी माँ ताप्ती की चुनरी यात्रा, सैंकडों जगह होगा स्वागत


ताप्ती मैया के आशीर्वाद ने विधायक के संकल्प को निभाया, धूमधाम से निकलेगी चुनरी यात्रा, सैंकडों जगह स्वागत

बैतूल। सूर्यपुत्री मां ताप्ती के पूजन-अभिषेक का यदि किसी ने संकल्प लिया तो मां स्वयं आगे बढ़कर उसका संकल्प पूर्ण कराती है। कुछ ऐसा ही बैतूल विधायक निलय डागा के मामले में हुआ। एक ओर जब शासन-प्रशासन ने कार्तिक पूर्णिमा के मेले आदि तक पर प्रतिबंध लगा दिया था तब विधायक ने पत्रकार वार्ता में सीना ठोंककर कहा था कि वो हर हाल में मां ताप्ती को चुनरी चढ़ाने जाएंगे चाहे इसके लिए उन्हें जेल क्यों न जाना पड़े। लेकिन मां ताप्ती की कृपा विधायक पर कुछ ऐसी बरसी कि स्वयंमेव शासन ने सभी मेले-ठेले और धार्मिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध हटा दिए।
बुधवार की शाम ऐसे आदेश आते ही बैतूल जिले के धार्मिक संस्थानों और संस्थाओं ने खुशी जताई और मां ताप्ती का इसे चमत्कार ही माना कि ऐतिहासिक चुनरी यात्रा के ठीक पहले उसने शासन को दुरस्त कर दिया। आखिर सबकी नाराजगी इसी बात को लेकर थी कि एक ओर तो प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के लिए लाखों लोग जुटाए जा रहे हैं वहीं धार्मिक मेलों आदि पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है। बैतूल विधायक श्री निलय डागा और जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनील शर्मा गुड्डू ने तो बाकायदा पत्रकार वार्ता लेकर शासन-प्रशासन की इस दोमुंही नीति का विरोध किया था। विरोध का यह दांव वायरल हुआ और मां ताप्ती के आगे शासन को घुटने टेकने पड़े।


इस संबंध में जब विधायक श्री निलय डागा से बात की गई तो उन्होने कहा कि वे प्रतिवर्ष कार्तिक पूर्णिमा पर मां ताप्ती को चुनरी चढ़ाने जाते हैं। इस साल जब शासन-प्रशासन ने प्रतिबंध की बात की तो लोगों का आक्रोशित होना स्वाभाविक था। जहां तक मेरी बात है तो मां के सम्मान के लिए जेल जाना या कोई प्रताड़ना सहना बड़ी बात नहीं है। हम कभी नियम नहीं तोड़ते लेकिन बेवजह के अत्याचार को सहन करना भी अधर्म है।


आम लोगों के अलावा सभी धर्म व मंदिर संस्थान से जुड़े लोगों ने भी चुनरी यात्रा को अब और धूमधाम से मनाने का निश्चय किया है।

मां ताप्ती चुनरी यात्रा का जगह-जगह होगा स्वागत

विधायक श्री निलय डागा और उनकी धर्मपत्नी श्रीमती दीपाली डागा के नेतृत्व में करीब 24 किमी की यह माँ ताप्ती चुनरी पद यात्रा 19 नवंबर शुक्रवार को प्रातः 7 बजे लल्ली चौक स्थित मंदिर में पूजन के साथ आरंभ होगी। इसके बाद प्रातः 7 बजे लल्ली चौक, 7.15 बजे थाना चौक, 7.30 बजे अखाड़ा चौक टिकारी, 8.00 बजे कारगिल चौक सदर, 8.15 बजे गेंदा चौक, 8.30 बजे डान बास्को, 8.40 कर्बला घाट माचना, 8.45 फोरलेन चौराहा, 9.00 धनोरा,9.30 बजे परसोड़ा,9.45 बजे भडुस,10.30 महदगांव ,11.00 डहरगांव,11.30 खेड़ी,12.00 मौड़ी कनारा, 1.00 लोहा पुल,1.30 ताप्ती घाट पहुंचेगी। यहां चुनरी अर्पण के बाद केरपानी स्थित हनुमान मंदिर के दर्शन पूजन के लिए यात्री जाएंगे और इसके साथ ही यात्रा का समापन होगा।

कोई न छूटे अभियान के तहत जिले में कोविड टीकाकरण


17 नवम्बर को कोविड टीकाकरण महाअभियान

65 हजार से अधिक टीके लगाने का लक्ष्य

पहला डोज कोविड से सुरक्षा के लिए पर्याप्त नहीं, दूसरा लगवाना भी जरूरी- कलेक्टर

बैतूल। जिले में 17 नवंबर को कोरोना टीकाकरण महाअभियान संचालित किया जाएगा। जिसके तहत 386 से अधिक टीकाकरण केन्द्रों के माध्यम से कोविड वैक्सीन लगाया जाएगा। कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस ने जनप्रतिनिधियों, धर्मगुरुओं, कोरोना वालंटियर्स, स्वयंसेवी संस्थाओं, समाजसेवियों एवं विभिन्न संगठनों से कोरोना टीकाकरण महाअभियान में सहयोग देकर इसे पूर्ण रूप से सफल बनाने की अपील की है।

कलेक्टर ने आमजन से अपील की है कि इस अभियान के तहत जिन्होंने दूसरा डोज नहीं लगवाया है, वे अवश्य वैक्सीनेशन करवाएं एवं स्वयं को कोरोना से सुरक्षित करें। उन्होंने कहा है कि कोविड से सुरक्षा के लिए पहला डोज पर्याप्त नहीं है, जिनका दूसरा डोज ड्यू है, वे आवश्यक रूप से इस अभियान में वैक्सीनेशन करवाएं।

कलेक्टर ने मंगलवार को जिले के संबंधित अधिकारियों की वर्चुअल बैठक लेकर कहा कि 17 नवंबर के इस महाअभियान में पूरे जिले का मैदानी अमला सक्रिय रूप से सहयोग करे एवं टीकाकरण का लक्ष्य पूरा करे। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को ताकीद किया है कि प्रत्येक केन्द्र पर प्रात: 8 बजे से आवश्यक रूप से टीकाकरण प्रारंभ हो जाए।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए.के. तिवारी ने बताया कि अभियान को सफल बनाने के लिए जिले के 386 वार्ड/गांवों में टीकाकरण केन्द्रों की स्थापना की जा रही है, इसके लिए 400 टीकाकरण दलों को भी तैनात किया जा रहा है। दस नवंबर के कोविड टीकाकरण महाअभियान में 65 हजार से अधिक टीके लगाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि जिले में पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध है।

पूरे माह चलेगा राजस्व शुद्धिकरण महाअभियान

वर्चुअल बैठक में कलेक्टर ने कहा कि राजस्व अभिलेख शुद्धिकरण अभियान अब पूरे नवंबर माह के दौरान चलाया जाएगा। उन्होंने राजस्व अधिकारियों से कहा कि इस अभियान में बेहतर परिणाम दिखें एवं आमजन को इसका लाभ मिले। उन्होंने कहा कि धारणाधिकार के मामलों में भी प्रकरणों का सकारात्मक निराकरण हो।

वर्चुअल बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिलाष मिश्रा, अपर कलेक्टर श्री श्यामेन्द्र जायसवाल सहित अनुविभागीय राजस्व अधिकारी, तहसीलदारों, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारियों ने भाग लिया।

3 साल से एक ही जिले में जमे हुए पुलिस अफ़सरों का होगा ट्रांसफर


भोपाल। मध्यप्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग ने एक ही जिले में और गृह जिले में जमे हुए पुलिस वालों के लिए निर्देश जारी किए हैं। निर्देश के अनुसार 4 साल की अवधि में लगातार तीन साल तक एक ही जगह पर पदस्थ पुलिस अधिकारियों की जानकारी मांगी है।

मध्यप्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग ने एक ही जिले में और गृह जिले में जमे हुए पुलिस वालों के लिए निर्देश जारी किए हैं। निर्देश के अनुसार 4 साल की अवधि में लगातार तीन साल तक एक ही जगह पर पदस्थ पुलिस अधिकारियों की जानकारी मांगी है। ऐसे में महकमें में चिंता का माहौल बन गया है। कयास लगाई जा रही है कि जल्द ही ट्रांसफर की प्रक्रिया शुरू हो सकती है।

जल्द हो सकता है ट्रांसफर
पंचायत चुनाव के मद्देनजर इन अधिकारियों को जल्द ही दूसरे जिलों में ट्रांसफर किया जाएगा। तबादले के दायरे में आने वाले पुलिस अफसरों में एसपी, एएसपी, सीएसपी, डीएसपी, एसडीओपी, टीआई स्तर के अधिकारी शामिल होंगे। आयोग के पत्र के बाद गृह विभाग ने सभी पुलिस अधीक्षकों से इसकी जानकारी तलब की है और इसका प्रमाण पत्र भी जारी करने के निर्देश दिए हैं।

MP पंचायत चुनाव की तैयारियां
मध्य प्रदेश त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। ये चुनाव तीन चरणों में होगा। राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने हाल ही में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से तैयारियों की समीक्षा ली थी और कलेक्टरों को निर्देश देते हुए कहा था कि सभी जिला प्रशासन मतदान केंद्रों का भौतिक सत्यापन करे। उन्होंने कहा था कि संवेदनशील और अति संवेदनशील केंद्रों की सूची चुरंत दी जाए।

तीन चरणों में होंगे पंचायत चुनाव
पंचायत चुनाव तीन चरणों में होंगे। जिसमें पहले चरण में 7527, दूसरे चरण में 7571 और तीसरे चरण में 8814 ग्राम पंचायतों के चुनाव होंगे। पंचायत और ग्राम विकास विभाग जिला पंचायत के 52 पदों के लिए नवंबर में आरक्षण प्रक्रिया शुरू करेगा, जिसके बाद पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान हो सकता है। ग्राम पंचायत और जनपद पंचायत के आरक्षण की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। जिला पंचायत और जनपद पंचायत सदस्यों का चुनाव ईवीएम और सरपंचों और पंचों का चुनाव बैलेट पेपर से होगा।

ग्रोप्योर एग्रो कृषि प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड का हुआ शुभारंभ


बैतूल जिले के ग्राम अमदर में ग्रोप्योर एग्रो कृषि प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड के कार्यालय और दुकान का हुआ शुभारंभ।

बैतूल ग्रोप्योर एग्रो कृषि प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड बैतूल में सरकारी योजना 10,000 किसान उत्पादक संगठन के अंतर्गत एसएफएसी के द्वारा कृषि विकास सहकारी समिति लिमिटेड, निगरानी समिति के माध्यम से बने एफपीओ का शुभारंभ अमदर ग्राम में हुआ। जिसमें मुख्य अतिथि श्री के पी भगत उपसंचालक कृषि विभाग बैतूल, आर एस राजपूत एसडीओ, श्रीमती अलका कोडा़पे एएसएडीओ, श्री विजेंद्र वाईकर आत्मा द्वारा किया गया।

इस अवसर पर क्षेत्र के सभी कृषक बंधु सहित एफपीओ संस्था के चेयरमैन सुभाष कालभोर, एफपीओ के सीईओ कैलाश लोखंडे, कृषक बंधु केशोराव जी लिखितकर, नगेंद्र जी लिल्लोरे, दयाल हारोड़े, अशोक काले, अयोध्या प्रसाद दुबे, मुंशीलाल देशमुख, ईश्वर चंद पाटनकर, बलिराम पवार, बद्री प्रसाद, रिंकू डिगरसे, संतोष हिंगवे, बलवंत पवार, गौदन हजारे, कृष्ण कुमार डोंगरदिए, लक्ष्मण सातपुते प्रदीप डिगरसे, अशोक बारंगे, मदन महाजन, सुरेश पडाड़े सहित ग्रामीण क्षेत्र के किसान उपस्थित रहे।

इस योजना की जानकारी विभागीय अधिकारी द्वारा सभी किसान भाइयों को दी गई और कृषि को उन्नत बनाने की तरीके भी बताया गए। साथ ही वित्तीय संस्था के शुभारंभ पर एफपीओ संस्था के सभी कृषक भाइयों को बधाई और शुभकामनाएं दी अंत में एपीओ के चेयरमैन सुभाष कालभोर द्वारा सभी किसान भाइयों और संस्था सदस्यों का आभार व्यक्त किया गया।